biographyराष्ट्रीय

Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi | आओ बच्चे तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की

Sonu kakkar

Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi

आओ बच्चे तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की तिलक करो इस धरती की यह धरती हिंदुस्तान की जी हां मित्रों यह लाइन लिखना इसलिए जरूरी हो गया कि आज हम जिस हस्ती के बारे में चंद लाइनें लिखने जा रहे हैं उनके बारे में लिखने से पहले इस हिंदुस्तान की वीर भूमि को सलाम करना जरूरी था सम्मान करना जरूरी था यह वही भूमि है| Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi

Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi

जहां पर बड़े-बड़े वीर आकर धरा शाही हो जाते हैं इस भूमि की असीम उर्जा हर क्षेत्र में महान से महान योद्धा को जन्म देती है इसी कड़ी में आज हम आपसे बात करेंगे कि सोनू कक्कड़ नाम की भारतीय बॉलीवुड के सुप्रसिद्ध गायिका इनका जन्म भारत के राज्य उत्तराखंड के ऋषिकेश नामक स्थान पर 11 अगस्त 1979 को हुआ इनके पिता ऋषिकेश कक्कड़ और माता नीति कक्कड़ के संतानों में सबसे बड़ी संतान के रूप में सोनू कक्कड़ का आगमन इस कक्कड़ परिवार के दिशा और दशा बदलने के रूप में हुआ है|

यूं तो आपको कई लेखों और साइटों पर सोनू कक्कड़ के बारे में अनेकों जानकारियां मिलती है और हमारा भी प्रयास से ही है कि हम भी कुछ इसी संबंध में बात को रखें सोनू कक्कड़ बचपन में अपने माता पिता के लिए सबसे प्यारी संतान रही है इसी कारण इनकी मां इन्हें केवल सोनू कह कर पुकारते थे कक्कड़ परिवार की शुरुआती दौर उत्तराखंड ऋषिकेश में बहुत बढ़िया नहीं रहा जिस कारणइस परिवार कोअपनी जीवन रूपी नैया कोआगे बढ़ाने और परिवारकेभरण पोषण पालन के लिएअनेकोंतरह के कार्य करने पड़े!

परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण शुरुआती दौर में सोनू कक्कड़ केपढ़ाई लिखाईप्राथमिक स्तर परऋषिकेश में ही हुई थी आगे
कक्कड़ परिवार जिंदगी को बेहतर करने के लिए सपरिवार दिल्ली महानगर में आकर रहने लगे मित्रों दिल्ली एक ऐसा मात्र महानगर है जो पूरे देश के प्रतिभा को सम्मान देती है अगर हम कहें कि दिल्ली पूरे दुनिया के प्रतिभा को सम्मान देती है तो यह भी सांची ही होगा दिल्ली आगमन सोनू कक्कड़ के जीवन के लिए सबसे बढ़िया शुभ अवसर लेकर आया आगे बताते हैं आपको कि किस प्रकार दिल्ली आगमन सोनू कक्कड़ के लिए शुभ हुआ
परिवार की बड़ी संतान होने के कारण सोनू के कंधे पर जिम्मेदारी नाम का भोज आभास देने लगा यही कारण है कि सोनू छोटी उम्र में ही बड़ी सोच लेकर जीने लगे कहा गया है ना की परिस्थिति आदमी को मजबूत और महान बना देता है ऐसा ही कुछ हुआ सोनू कक्कड़ के साथ 5 वर्ष की उम्र में ही सोनू कक्कड़ अपना महान कैरियर गायिका का प्रारंभ कर दिया|

Sonu kakkar husband – Niraj kakkar

आपको बताते चलें कि दिल्ली एक ऐसा महानगर जहां पर बहुत बड़े-बड़े और छोटे छोटे समूहों में धार्मिक कार्यक्रमों के अवसर पर जागरण जैसे कार्यक्रम होते हैं और यही वह प्लेटफार्म है जहां पर नवीन कलाकारों को अपनी प्रतिभा को दिखाने का मौका मिलता है और ऐसा ही एक मौका सोनू कक्कड़ के हाथ में लगा और पहली ही जागरण के मंच पर छोटी सोनू ने ऐसा गाया कि लोगों के दिल रूपी पटल पर एक छाप छूट गया तब से सोनू दिल्ली के जागरण ओं में हजारों मंच पर बाल कलाकार के रूप में अपनी आवाज से लोगों को मंत्र मुक्त कर दिया कैरियर आगे बढ़ता देख अपनी छोटी बहन नेहा कक्कड़ और भाई टोनी कक्कड़ को भी अपनी दलबल में शामिल कर लिया कहा गया है ना कि तरबूज को देखकर तरबूज दूसरा खरबूजा पक जाता है यही हुआ इन तीनों कक्कड़ भाई बहनों के साथ और आज हम इन तीनों को एक महान गीतकार संगीतकार के रूप में देश की फिल्म सिटी मुंबई महानगरी में कार्य करते हुए देख रहे हैं पूरा भारत आज इनके आवाज का दीवाना हो गया है लाखों लाख लोग इनके फ्लावर्स बने हुए हैं|

सोनू कक्कड़ की शारीरिक बनावट अगर भारतीय उपमहाद्वीप के नजरिए में देखा जाए तो बहुत खूबसूरत है लंबे छरहरी बदन गोरा चेहरा लंबे लंबे काले बाल चेहरे पर मुस्कान चेहरे की खूबसूरती जोकि पहली बार में है किसी को आकर्षित कर दे अगर आप पूरे दुनिया में अपनी छाप छोड़ना चाहते हैं तो आपके प्रतिभा के साथ आपकी खूबसूरती हो तो आपके प्रति आंखों में चार चांद लग जाती है ऐसा ही हुआ कुछ सोनू कक्कड़ के साथ सोनू कक्कड़ विशेष रूप से शाकाहारी भोजन करती हैं सामान्य रूप से पावापुरी अधिक पसंद है आज के डेट में सोनू कक्कड़ के सोशल मीडिया फेसबुक पर 3 मिलियन से ज्यादा जबकि इंस्टाग्राम पर एक मिलियन से ऊपर और ट्विटर पर लगभग तीन लाख लोग इनको फॉलो करते हैं|

इस प्रकार इनके आवाजों को सुनने वाले और इनको पसंद करने वाले की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही ह
वर्ष 2006 में नेहा कक्कड़ परिणय सूत्र में नीरज शर्मा के साथ बंधन में बंद गई इनका एक आदर्श वैवाहिक जीवन बीत रहा है दांपत्य जीवन में एक सुंदर सी पुत्री धन की प्राप्ति नेहा कक्कड़ और नीरज शर्मा के मिलन से हुआ है पुत्री का नाम अमीरा बताया गया है जोकि माता पिता के गुण और चरित्र से चल रही है कहा गया है ना कि अगर एक महान छाप छोड़नी है तो एक महान छवि का निर्माण होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि जब हम नहीं रहेंगे तो हमारी बातों को आगे तक ले जाने के लिए हमारी संतानें होती है तो बेटी अमीरा अपनी महान माता के नामों को और उनके प्रसिद्धि यों कोआगे लेकर जरूर बढ़ेगी ऐसा हम ईश्वर से कामना करते हैं|

Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi 

नेहा कक्कड़ सुर सम्राट और आवाज के जादूगरनी हैं इसके पीछे कई बातें हैंआप जानते हैं किभारत अनेकता में एकता वालादेश है इस देश में कई भाषाएं बोली जाती हैऔरहर भाषाओं का अपनाअलग-अलग महत्व रहता हैकिंतुअगर हम बात नेहा कक्कड़ के बारे में करेंतो नेहा कक्कड़कई भाषाजैसेहिंदी तमिल कन्नड़ नेपाली पंजाबी अनेकों भाषा में सैकड़ों मधुर गीत गाय हैं यही कारण है कि नेहा कक्कड़ आज अपने पहचान की मोहताज नहीं है आज यह लोगों की चाहती गायिका बन चुकी है वर्तमान समय में नेहा कक्कड़ गीत गाने साथ साथ एक संगीतकार के रूप में भी कार्य कर रही है|

एक सफल धर्मपत्नीके साथ-साथआदर्श माता के रूप में भीनेहा कक्कड़ अपने परिवार के साथरहती हैजब भीनेहा कक्कड़ फुर्सत के क्षण में रहती हैअपनीबेटीअमीराऔर पतिनीरज शर्मा के समय बिताना पसंद करती हैंनेहा कक्कड़ कोघूमना औरगानाबहुत पसंद है|

 

कलाकार के रूप मेंशाहरुक खान इनके पसंदीदा हैं वही इनकी आदर्श के रूप में माधुरी दीक्षित का नाम आता है भारतीय बॉलीवुड के महान संगीतकार ए आर रहमान भी इन्हें काफी पसंद है क्योंकि ए आर रहमान एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के संगीतकार के रूप में अपनी छाप बनाई है सब मिलाकर अगर कहे तो नेहा कक्कड़ जीरो से हीरो तक का सफर सफलतापूर्वक और इमानदारी के साथ मेहनत के बल पर किया है क्योंकि कामयाबी केवल और केवल मेहनत खुद की है लग्न खोज की है प्रतिभा खोज की है और अवसर खोजती है!

Sonu Kakkar Lifestyle In Hindi

इन सभी चीजों का संजोग बन जाए तो फिर नेहा कक्कड़ जैसे महान व्यक्ति का आगमन होता है आज नेहा कक्कड़ भारत के हजारों लड़के और लड़कियों के लिए आदर्श के रूप में उभर कर सामने आ रही है क्योंकि लोग उन्हें ही आदर्श के रूप में स्वीकार करते हैं जिनका एक सफल जीवन कौशल जीवन रहा हो अगर नेहा कक्कड़ के पूरी यात्रा को देखा जाए तो यह यात्रा मील के पत्थर जैसे दिखाई देगी किंतु अगर मन में विश्वास और मजबूत इच्छाशक्ति होतो फिर दूरीछोटी हो जाती है ऊंचाई छोटी हो जाती हैआप आसमान को नाप डालते हैं आप धरती के गहराई को नाप डालते हैंआप समुद्र केहजारों किलोमीटर के रास्ते को पार कर लेते हैंऐसा ही एक नाम नेहा कक्कड़है

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
×