अरुणाचल प्रदेशअसमआंध्र प्रदेशकर्नाटककेरलगुजरातगोवाछत्तीसगढ़जम्मू और कश्मीरझारखंडबिहारमणिपुरमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रमिजोरममेघालयराष्ट्रीयसाहेबगंजहरियाणाहिमाचल प्रदेश

शादी मे शामिल हुए सभी लोग कोरोना पॉजिटिव

शादी मे शामिल हैं सभी लोग कोरोना पॉजिटिव

 

पालीगंज (पटना) में शादी समारोह में शामिल 70 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव,सुहागरात के अगले दिन ही दूल्हे की हो गई थी मौत,दिल्ली से आया था घर कोरोनाकाल में शादी की जल्दबाजी दुष्परिणाम

पालीगंज/पटना
पटना जिले के पालीगंज में एक बेहद ही दिल को झकझोर देने वाली घटना देखने को मिली है,जिसमें शादी के दूसरे दिन ना सिर्फ कोरोना से दूल्हे की मौत हो गई,बल्कि अब भी बारात में शामिल लोगों में से कोरोना पॉजिटिव मिलने का सिलसिला जारी है।सोमवार को भी उस शादी समारोह में शामिल 72 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।पालीगंज में एक साथ 72 कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है।

खास बात यह है कि ये सभी पालीगंज के डीहपाली गांव में 15 जून को शादी समारोह में जमकर दावत उड़ाए थे।जिस शादी से सभी कोरोना से ग्रसित हुए हैं,उस दूल्हे की मौत शादी के दो दिनों के बाद यानी कि सुहागरात के अगले दिन 17 जून को ही इलाज के दौरान हो गई।गांव के लोग दूल्हे की मौत का कारण भी कोरोना बता रहे हैं लेकिन आधिकारिक तौर पर इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है,क्योंकि उसकी कोरोना जांच भी नहीं कराई गई थी।दूल्हे की मौत के बाद उसके मां-बाप का भी सैंपल अभी तक जांच के लिए नहीं लिया गया है।इस घटना के बाद प्रशासन अलर्ट मोड में आया और उस शादी में जितने लोग भी शामिल हुए थे सभी लगभग 125 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था साथ ही सभी मुहल्लों को सील कर दिया गया था,जहां से सैंपल लिए गए थे।अधिकारियों के मुताबिक डीहपाली गांव निवासी एक युवक की विगत 15 जून को शादी हुई थी। बताया जाता है कि युवक दिल्ली से हाल में ही अपनी कार से आया था।वह वहां एक निजी कंपनी में इंजीनियर था।जब वह घर आया उस समय बिहार में क्वारेंटाइन सेंटर बंद हो चुके थे जिसके बाद उसे होम क्वारेंटाइन कर दिया गया था।शादी के दूसरे दिन यानी 17 जून को पेट दर्द की शिकायत के बाद उसे निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया,जिसके बाद उसे पटना भेज दिया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी थी,बाद में प्रखंड विकास पदाधिकारी चिरंजीवी पांडेय के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मामले की छानबीन की और मृत युवक के स्वजनों सहित कोरोना संक्रमण की जांच के लिए करीब 125 लोगों का सैंपल लिया।बीडीओ चिरंजीवी पांडेय ने बताया कि संक्रमित पाए जाने वाले गांव व मुहल्ले को चिन्हित करके सील कर दिया गया है।दूल्हे की मौत कोरोना से हुई है या किसी और बीमारी से अब इसका पता लगाना संभव नही है,क्योंकि दूल्हे का अंतिम संस्कार भी हो चुका है।

अंतिम संस्कार के एक हफ्ते बाद जब इलाके के लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजेटिव आई तो उस दूल्हे को लोग कोसना शुरू कर दिए ऐसा इसलिए कि जब तबियत ज्यादा बिगड़ने लगी थी तो उसे एम्स भेजा गया जहां हॉस्पिटल के गेट पर पहुचने के साथ ही उसकी मौत हो गई थी जिसके कारण उसका कही भी सरकारी जांच प्रक्रिया नहीं हुई।खैर,इस मामले में किसकी लापरवाही है वो जांच की बात है,लेकिन उस नवविवहीता का क्या जिसका ससुराल पहुंचने के पहले की सुहाग उजड़ गया।दुल्हन के पिता ने बताया कि विवाह में दूल्हे की तबियत कुछ खराब थी तब बताया गया कि लूजमोशन के कारण थोड़ी कमजोरी महसूस हो रही है। लइस घटना के बाद दुल्हन पक्ष के लगभग 100 लोगों की कोरोना जांच कराई गई जहां गनीमत रही कि दुलहन पक्ष का कोई भी कोरोना से ग्रसित नहीं पाया गया है।सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है लेकिन वर पक्ष की तरफ से बारात में शामिल लगभग सभी लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

Tags

Related Articles

7 Comments

  1. Your style is unique compared to
    other folks I’ve read stuff from.
    Many thanks for posting when you have the opportunity, Guess
    I’ll just bookmark this page.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
×